Advertisement
fb

रंग लाई यातायात विभाग की पहल
बच्चों को ढोने बालें 13 वाहन धराए
क्यो नही होती स्कूली वाहनो की जांच
शहडोल।(संजय गर्ग) पूरे शहर सहित जिले भर में स्कूली विद्यार्थियों को ढोने में लगे वाहन पूरी तरह यातायात नियमों का मखौल उड़ाते हुए चल रहे हैं । यह बात अलग है कि कभी कभी यातायात अमले की निगाह उन पर पहुंचती है और तदनुसार कार्रवाई भी की जाती है। बावजूद इसके अभी भी पूरे जिले भर में सैकड़ों वाहन स्कूली बच्चों को ढोने में लगे हुए हैं। जिनमें पूरी तरह सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों की धज्जियां उड़ाई जाती है ।
अभिभावकों की परेशानी
उल्लेखनीय बात यह है कि यातायात अमला या तो कुछ कार्रवाई करता है या उन्हें नजरअंदाज भी कर दिया जाता है। विभाग की इस कार्यशैली का खामियाजा उन अभिभावकों को भोगना पड़ता है जिनकी मजबूरी ऐसे अवैध वाहनों के माध्यम से अपने बच्चों को स्कूल भेजना पड़ता है।
एस पी के निर्देश
जिले के पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार थाना प्रभारी यातायात सूबेदार अभिनव राय द्वारा शहर में संचालित महर्षि स्कूल, केन्द्रीय विद्यालय और गुड शेफर्ड स्कूल मे बच्चों का परिवहन करने वाले 13 वाहनों पर बिना किसी दस्तावेजो के परिवहन करने ओवरलोड सवारी बैठाने आदि पर कार्यवाही कर प्रकरण को क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय भेजा गया है।
पहले भी हुई थी कार्यवाही
उल्लेखनीय है कि कुछ वर्ष पूर्व कॉन्वेंट विद्यालय के सामने ही अवैध वाहनों की धर पकड़ हुई थी उसके बाद वर्तमान यातायात प्रभारी द्वारा इतनी भारी मात्रा में स्कूली वाहन पकड़े गए हैं जो वास्तव में एक सराहनीय कार्य है, इसके लिए निसंदेह पुलिस अधीक्षक कुमार सौरभ तथा डिप्टी एसपी यातायात श्री तिवारी बधाई के पात्र हैं । लोगों का कहना है कि इस तरह के अभियान अनवरत रूप से चलाए जाने चाहिए ताकि ऐसे अवैध वाहनों पर अंकुश लग सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here