Advertisement
fb

मुंबईः नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बकाया नहीं चुकाने की वजह से इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) ने जेट एयरवेज को शुक्रवार दोपहर 12 बजे से देशभर में ईंधन देना बंद कर दिया है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है।

जेट एयरवेज में अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए बैंकों ने 6 अप्रैल से बोली मंगवाई हैं। इच्छुक कंपनियां 9 अप्रैल तक बोली जमा कर सकती हैं। एयरलाइन के मौजूदा हालात पर विचार के लिए एसबीआई के नेतृत्व वाले बैंक समूह की गुरुवार को बैठक हुई। मीटिंग में तय हुआ कि नीलामी में अच्छा रेस्पॉन्स नहीं मिला तो दूसरे विकल्पों पर विचार किया जाएगा।

जेट पर बैंकों का 8,050 करोड़ रुपए का कर्ज है। इसकी रिस्ट्रक्चरिंग करते हुए बैंकों ने एयरलाइन में 50.1 फीसदी हिस्सेदारी ले ली है। प्रमोटर नरेश गोयल की हिस्सेदारी 51 फीसदी से घटकर 25 फीसदी और एतिहाद की 24 फीसदी से घटकर 12 फीसदी रह गई है।

25 मार्च को बैंक जेट को 1,500 करोड़ रुपए देने पर सहमत हुए थे। हालांकि, एयरलाइन को अभी तक रकम नहीं मिल पाई है। सूत्रों ने बताया कि अब बैंक यह देखना चाहते हैं कि नीलामी में कंपनियां कितनी रुचि दिखाती हैं। उसी हिसाब से वो नया पैसा लगाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here