Advertisement
fb

इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन की शुरुआत 23 मार्च से होगी। टूर्नामेंट के पहले मैच में पिछले बार की चैम्पियन चेन्नई सुपरकिंग्स का सामना रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से होगा। बेंगलुरु की कमान टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के हाथों में है। वही चेन्नई की कमान धोनी का हाथों में है। फटाफट क्रिकेट में दुनिया की सबसे रोमांचक टी-20 लीग के सभी टीमों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। लेकिन कुछ ऐसे खिलाड़ी भी टीम में है जो इस बार टीमों के लिए सरदर्द साबित हो सकते हैं। तो आइए एक नजर डालते है।

एबी डीविलियर्स 

साउथ अफ्रीके के दिग्गज एबी डीविलियर्स हाल ही में पाकिस्तान सुपर लीग में अपना धमाल दिखा रहे थे. मगर इसी बीच वह बैक इंजरी का शिकार हो गए. हालांकि ये नहीं मालूम है कि इंजरी कितनी गंभीर है। मगर डीविलियर्स का टूर्नामेंट के ठीक पहले चोटिल होना टीम के लिए चिंता का विषय बन गया है।

स्टीवन स्मिथ 

स्टीवन स्मिथ पिछले आईपीएल सीजन में बैन के चलते नहीं खेल पाए थे। जबकि इस बार जब वह आईपीएल में वापसी कर रहे हैं तो टीम के लिए चिंता का विषय ये है कि वे एल्बो इंजरी से हाल ही में उबरे हैं।

हार्दिक पांड्या 

भारतीय टीम के ऑल राउंडर हार्दिक पंड्या बैक इंजरी के चलते ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज से बाहर हो गए थे। हालांकि वह इस समय फिट हैं और मैदान पर पसीना बहाते नजर आए हैं। मगर समस्या ये है कि इससे पहले पंड्या एशिया कप में भी बैक इंजरी से जूझते नजर आए थे। ऐसे में अगर ये समस्या आईपीएल सीजन के बीच में होती है तो टीम के लिए ये एक बड़ा नुकसान होगा।

शाकिब अल हसन 

बांग्लादेश के दिग्गज ऑलराउंडर शाकिब अल हसन फिलहाल अपनी अंगुली के चोट के कारण टीम से बाहर हैं, वह जल्द ही चोट से उबरने के लिए प्रयास कर रहे हैं। हो सकता है कि वह शुरूआती कुछ मैचों में टीम का हिस्सा भी शायद न हों।

केन विलियमसन

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन चोटिल होने के चलते शुरूआती कुछ मैच शाय़द न खेल पाएं। केन बांगलादेश के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में चोटिल हो गए थे। जिसके चलते वह क्राइस्टचर्च में होने वाले मैच से भी बाहर हो गए थे। चोट से वह जितना जल्दी उबर जाते हैं, वह टीम के लिए बेहतर रणनीति साबित होगी।

सुनील नरेन 

कोलकाता नाईट राइडर्स के लिए सुनील नरेन एक सबसे सफल खिलाड़ी बन चुके हैं। मगर फ़िलहाल नरेन अपनी फिंगर इंजरी से जूझ रहे हैं। ऐसे में कोलकाता की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here